Breaking News
Home / Political / यूपीए और इस कम्पनी के “सीक्रेट नोट्स” आए सामने, सीबीआई ने फाइल किया केस

यूपीए और इस कम्पनी के “सीक्रेट नोट्स” आए सामने, सीबीआई ने फाइल किया केस

कांग्रेस पार्टी के शासन में जो भ्रष्टाचार हुए उसके बारे में तो सभी जानते ही हैं. जिनमें प्रमुख रूप से कोयला घोटाला, 2-जी स्पेक्ट्रम हैं. अब कांग्रेस के शासन काल में हुए एक और घोटाले की बात सामने आ रही है. इस घोटाले के बारे में जानकर शायद आप कभी भी कांग्रेस पार्टी को वोट न दें. मीडिया द्वारा मिली जानकारी के मुताबिक बताया जा रहा है कि यह घोटाला यूपीए-2 के दौरान हुआ था.
Source

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय उड़ान लाइसेंस पाने के लिए यूपीए सरकार के नियमों के कथित उल्लंघन करने और मंत्रियों को कथित रिश्वत देने के मामले में निजी विमानन कंपनी एयर एशिया अब फंस गई है. CBI ने एयर एशिया के टॉप एग्जिक्यूटिव्स के खिलाफ एक केस फाइल किया है. उन पर ओवरसीज फ्लाइंग राइट्स हासिल करने के लिए यूपीए सरकार के साथ आपराधिक साजिश रचकर नियम बदलने का आरोप लगाया गया है.

Source

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार यूपीए-2 के कार्यकाल के दौरान उड्डयन मंत्री को एयर एशिया की तरफ से 50 लाख डॉलर की रिश्वत भी दी गई थी. हालांकि एयर एशिया ने सारे आरोपों को खारिज किया है. बुधवार को केस से संबंधित सबूतों की तलाश में एयर एशिया के दिल्ली, बेंगलुरु और मुंबई के ठिकानों पर छापे डाले.

Source

इस केस में अधिकारियों के ईमेल, रिश्वत और सरकारी कागज़ CBI के लिए अहम सुराग साबित हो सकते हैं. बता दें कि एयर एशिया इन सभी आरोपों से इनकार करती रही है। सीबीआई की तरफ से आरोप लगाया गया है कि यह साजिश 2014 के लोकसभा चुनाव के एक महीना पहले रची गई. यह मामला अन्य बातों के अलावा एयर एशिया और टाटा ग्रुप के सीनियर अधिकारियों के बीच ईमेल से हुई बातचीत पर आधारित है.

Source

वहीं, मीडिया रिपोर्ट्स में एयर एशिया के एक्स सीईओ के हवाले से यह दावा किया जा रहा है कि यूपीए के दूसरे कार्यकाल के दौरान उड्डयन मंत्री को करोड़ों रुपये की रिश्वत भी दी गई. ऐसा एक ईमेल CBI के पास है, जिसमें टाटा ग्रुप के एक टॉप एग्जिक्यूटिव वेंकटरमणन रामचंद्रन कथित रूप से तत्कालीन सिविल एविएशन मिनिस्टर अजित सिंह  की ओर से व्यक्तिगत रूप से भरोसा दिला रहे हैं.

Source