Breaking News
Home / Ajab Gajab / अगले गणतंत्र दिवस पर ये हो सकते हैं भारत के मुख्य अतिथि, इन्हें देख चीन-पाकिस्तान के उड़ जायेंगे होश

अगले गणतंत्र दिवस पर ये हो सकते हैं भारत के मुख्य अतिथि, इन्हें देख चीन-पाकिस्तान के उड़ जायेंगे होश

केंद्र में बीजेपी की सरकार आने के बाद देश के प्रधानमंत्री बने नरेंद्र मोदी जी ने कई बड़े रिकॉर्ड दर्ज किये हैं. उन्होंने बतौर पीएम रहते दुनियाभर के कई देशों में जाकर उन देशों से भारत के बेहतर संबंध स्थापित किये हैं.आज देश जिस भी ऊँचाई पर पहुंचा है, उसके पीछे पीएम मोदी जी की मेहनत का ही कमाल है. आज भारत को दुनियाभर में एक अलग ही पहचान मिली है. आये दिन बढ़ रही लोकप्रियता से पीएम मोदी जी के नेतृत्व में ही बीजेपी ने भारतीय राजनीती में इतिहास रच दिया है.

Image Source-rightlog.in

जानकारी के लिए बता दें आज देश के अधिकतर राज्यों में बीजेपी की सरकार है. अब आने वाले लोकसभा चुनाव के साथ बीजेपी ने 26 जनवरी 2019 के गणतंत्र दिवस की तैयारियां जोरो-शोरों से शुरू कर दी है. पीएम मोदी जी के नेतृत्व में भारत का गणतंत्र दिवस बड़ी ही धूम-धाम से मनाया गया है. अब 2019 में आने वाले गणतंत्र दिवस को लेकर एक बहुत बड़ी खबर आ रही है. इस बार के गणतंत्र दिवस में दुनिया के शक्ति-शाली शख्स के आने की संभावनाएं जताई जा रही हैं. जिसके बारे में जानने के बाद आप भी हैरान रह जायेंगे.

Image Source-deccanchronicle

मिली जानकारी के अनुसार भारत ने उन्हें भारत आने का न्यौता भी दे दिया है. अगर यह शख्स भारत के गणतंत्र दिवस में शामिल होने के लिए आता है तो यह भारत के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि हो सकती है. बता दें यह शख्स कोई और नहीं बल्कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प हैं. 2019 के गणतंत्र दिवस की परेड के लिए मुख्य अतिथि के तौर पर डोनाल्ड ट्रम्प को न्यौता दे दिया गया है. हालाँकि ट्रम्प की तरफ से अभी तक कोई बयान नहीं आया है, भारत उसके लिए इंतजार कर रहा है. यह जानने के बाद चीन और पाकिस्तान के होश उड़ जायेंगे.

Image Source-Wikipedia

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने इसके लिए अप्रैल में ही न्यौता भेज दिया था. ट्रम्प के लंबे इंतजार से यही संकेत मिल रहे हैं कि ट्रम्प प्रशासन इस न्यौते पर सकारात्मक ढंग से विचार कर रहा है. ट्रम्प भारत आने के लिए तैयार रहते हैं तो यह भारत की बड़ी कूटनीति की जीत होगी. भारत से अमेरिका के बेहतर रिश्ते होने के चलते यही कयास लगाये जा रहे हैं कि ट्रम्प भारत का न्यौता स्वीकार कर लेंगे.

Image Source-Livemint

इससे पहले भी साल 2015 में अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा शामिल हुए थे. ट्रम्प के भारत आने पर मोदी सरकार को उम्मीद है कि अमेरिका भारत को ईरान से संबंध रखने के बावजूद कुछ छूट दे सकता है. इसके अलावा और भी अमेरिका की तरफ से बढ़ी साझेदारी हो सकती हैं.
Image Source-Dainik jagran