Breaking News
Home / Breaking News / कांग्रेसी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को जब भेंट स्वरूप मिला नारियल तो उसके साथ की ऐसी ओछी हरकत कि आपका खून खौल जायेगा !

कांग्रेसी नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया को जब भेंट स्वरूप मिला नारियल तो उसके साथ की ऐसी ओछी हरकत कि आपका खून खौल जायेगा !

कांग्रेस के कद्दावर नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने की नारियल के साथ ऐसी ओछी हरकत जिसे जानकर आपका खून खौल जाएगा. जी हां आपको बता दें कि सिंधिया इन दिनों मध्यप्रदेश के दौरे पर आये हुए है जहां वो अपनी कार्यकर्ताओं से मिलते हुए अपनी काफिले के साथ खजुराहोंं से निकल कर रीवा जा रहे थे उसी दौरान उनके एक कार्यकर्ता ने उन्हें एक नारियल भेंट की थी जिसके बाद वो कुछ ऐसा करते हैं जिसे जानकर आप…

ज्योतिरादित्य सिंधिया लोकसभा की मध्य प्रदेश स्थित गुना संसदीय सीट का प्रतिनिधित्व करते हैं ( image source: patrika)

सिंधिया ने किया कुछ ऐसा

आपको बता दे कि जब सिंधिया का काफीला खजुराहों से होते हुए रीवा जा रहा था तो उसी दौरान छतरपुर जिले के कांग्रेस कार्यकर्ता उनकी स्वागत के लिए खड़े थे उस दौरान कोई उन्हें फूल भेंट कर रहा था तो कोई उपहार लेकिन जब एक शख्स ने उन्हें नारियल भेंट किया तो कुछ दूर जाने के बाद ही वे उस नारियल को फेंक देते हैं. जो दृश्य एक राहगीर द्वारा बनाये गये  एक वीडियो मे कैद हो जाता हैं और कोई उस नारियल को नहीं देखें इसलिए उनकी सुरक्षा ड्यूटी पर तैनात एक पुलिसकर्मी द्वारा पैर मे दबा लिया जाता हैं.

वर्तमान मे मध्यप्रदेश के कांग्रेस के अध्यक्ष हैं कमल नाथ ( image source: punjab keshari )

यह अपमान किसी पार्टी का नहीं

आपको बता दें कि जैसे-जैसे यह वीडियो सामने आ रहा हैं वैसे ही वैसे वह आम नागरिकों के गुस्से के साथ-साथ, कांग्रेस कार्यकर्ताओं का भी गुस्सा बढ़ता जा रहा हैं. इस घटना के बाद कांग्रेस के एक कार्यकर्ता ने कहा कि,’ यह अपमान किसी पार्टी का नहीं बल्कि उन तमाम कार्यकर्ताओं का हैं जो दिन रात एक कर अपनी सेवा इस पार्टी को देते रहते हैं.’

आपको बता दे कि कांग्रेस की तरफ से ज्योतिरादित्य सिंधिया को मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री के चेहरे की तौर पर पेश किया जा रहा हैं लेकिन किसी प्रतिष्ठित व्यक्ति की तरफ से इस तरह की गतिविधि करना बहुत ही गलत हैं जो कि सही नहीं है.

क्या हमें ऐसे व्यक्ति का समर्थन करना चाहिए जो किसी व्यक्ति का सम्मान नहीं करता हो?

news source: jansatta