Breaking News
Home / Breaking News / सरकारी बंगले को छोड़ने से पहले हुई तोड़फोड़ को लेकर सामने आई PWD की रिपोर्ट, हुआ है इतने का नुकसान !

सरकारी बंगले को छोड़ने से पहले हुई तोड़फोड़ को लेकर सामने आई PWD की रिपोर्ट, हुआ है इतने का नुकसान !

पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्रियों से कहा गया था कि वो अपना सरकारी बंगला खाली कर दें. कोर्ट के आदेश के बाद राज्य की योगी सरकार ने भी अखिलेश यादव और मायावती को बंगला खाली करने का फरमान जारी किया था. सरकार द्वारा लगातार दबाव बनाए जाने के बाद जहां, मायावती ने अपने सरकारी बंगले में ‘कांशीराम स्मारक स्थल’ बनाने की घोषणा कर दी थी तो वहीं उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बंगला छोड़ने से पहले जो तोड़फोड़ की थी वो बात किसी से छिपी नहीं है.

अखिलेश यादव ने किया था बंगले का कुछ ऐसा हाल

अखिलेश यादव के सरकारी बंगले में जिस प्रकार से तोड़फोड़ की गई थी वो एक बड़ा मुद्दा बन गया था(image source: webdunia)

अखिलेश यादव जब बंगला खाली करके गए थे तो उसके बाद PWD अधिकारियों ने बंगले की जांच की थी. उसमें ये बात सामने आई थी कि, बंगले के अंदर लगे इटालियन टाइल्स को बुरी तरह से क्षत्रिग्रस्त कर दिया गया था. स्वीमिंग पूल को नुकसान पहुंचाया गया था. यहां तक कि घर के बाथरुम में लगे टोंटी तक को उखाड़ दिया गया था. बंगले को नुकसान पहुंचाने के पीछे अखिलेश यादव की क्या मंशा हो सकती है वो तो सबके सामने है लेकिन, अब अखिलेश को एक और झटका लगने वाला है.

राज्य संपत्ति विभाग को इतना का हुआ नुकसान

दरअसल, उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव के सरकारी बंगले को क्षत्रिग्रस्त पहुंचाए जाने के बाद इसकी जांच के लिए एक टीम गठित की गई थी. अब निर्माण विभाग ने अपने जांच की रिपोर्ट को राज्य संपत्ति विभाग को सौंप दी है. 4-विक्रमादित्य मार्ग का सरकारी बंगला जिसमें पहले अखिलेश यादव रहते थे, उस बंगले में तोड़फोड़ के बाद जांच हुई और 266 पेज का एक रिपोर्ट तैयार किया गया है. इस रिपोर्ट के मुताबिक सरकारी बंगले के सौंदर्यीकरण में लगभग 5 करोड़ 57 लाख रुपए खर्च हुए थे और जब बंगले में तोड़फोड़ की गई तो जांच के बाद पता चला कि तोड़फोड़ से 5 लाख 84 हजार का नुकसान हुआ है.

मानक गुप्ता जो News 24 के एंकर हैं उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल से PWD की रिपोर्ट को ट्वीट कर बंगले में हुई नुकसान की जानकारी दी

दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अखिलेश यादव ने 4 जून को अपने सरकारी बंगले की चाभी राज्य संपत्ति विभाग को सौंपी थी. जब राज्य संपत्ति विभाग ने बंगला खाली होने के बाद आंकलन कराया तो पता चला कि अंदर टाइल्स और कई टोटियां गायब मिली. बंगले में जिस प्रकार से तोड़फोड़ की गई थी उसे देखते हुए एक कमेटी का गठन किया था जिसने जांच करने के बाद अपनी रिपोर्ट बुधवार 1 अगस्त को सौंप दी थी.

PWD द्वारा जारी किए गए नुकसान की ऑरिजनल कॉपी(image source: twitter)

अब योगी सरकार किस तरह से सरकारी बंगले में हुए तोड़फोड़ की रकम को वसुलती है वो देखने वाली बात होगी. फिलहाल खबरों के मुताबिक, अखिलेश यादव अब उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में होटल खोलने वाले हैं.