Breaking News
Home / Uncategorized / आपके पेट्रोल-डीजल के खर्च में अब हो सकती है 10% की कमी, जानिये क्या करने जा रही है सरकार

आपके पेट्रोल-डीजल के खर्च में अब हो सकती है 10% की कमी, जानिये क्या करने जा रही है सरकार

केंद्र में जबसे बीजेपी की सरकार आई है तब से लेकर अब तक देश की कमान संभाल रहे पीएम नरेंद्र मोदी जी ने एक से बढ़कर एक देश हित में उठाये हैं. पीएम मोदी द्वारा उठाये गये बड़े क़दमों की गूंज आज दुनियाभर में है. भारत को उन्होंने एक ऐसे विकास की ओर अग्रसर किया है. जिसे अब तक कोई नेता नहीं पहुंचा पाया. भारत की अर्थव्यवस्था ने आज दुनिया के बड़े-बड़े शक्ति-शाली देशों को पछाड़ दिया है. आज भारत को दुनियाभर में एक शक्ति-शाली देश के रूप में जाना-जाने लगा है. इसके पीछे पीएम नरेंद्र मोदी जी की अटूट मेहनत है. वह अपना सब कुछ न्यौछावर करके देश की सेवा में लगे हुए हैं.

Image Source-The Indian Express

जानकारी के लिए बता दें अंतर्राष्ट्रीय बाजारों में बढ़ रही कच्चे तेल की कीमत के चलते पेट्रोल-डीजल के भाव में भी बढ़ोत्तरी हुई है. जिसके चलते विपक्ष मोदी सरकार को घेरना की कोशिश करता रहा है. लेकिन अब एक ऐसी योजना सामने आई है, जिसे अगर लागू कर दिया गया तो विपक्ष की खुशियाँ मातम में बदल जाएँगी. जी हाँ अगर ऐसा होता है तो पेट्रोल के दाम में भारी कमी आ सकती है. दरअसल कार में 15 फीसदी मिथेनॉल मिलाकर पेट्रोल में इस्तेमाल करना सरकार ने अनिवार्य कर दिया तो पेट्रोल के दाम में इतनी कमी आ जाएगी कि आप भी चौंक जायेंगे.

Image Source-Free Press Journal

जी हाँ मिथेनॉल को 15 फीसदी मिलाने से एक नहीं बल्कि पूरे 10 % फीसदी पेट्रोल खर्च में जनता की बचत होने लग जाएगी. आपको भी जानकर हैरानी हुई होगी लेकिन ये सच है. इस प्रस्ताव को नीति आयोग ने कैबिनेट को भेज दिया है.मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो नीति आयोग ने एक प्लान तैयार किया है, जिसके अंतर्गत 2030 तक क्रूड के आयात खर्च में हर साल 100 अर्ब डॉलर कमी का लक्ष्य रखा गया है. नीति आयोग ने बताया है कि अगर परिवहन और खाना बनाने के लिए 15 फीसदी मिथेनॉल मिश्रित ईंधन का प्रयोग होता है तो हर वर्ष इस लक्ष्य को हासिल किया जा सकता है.

Image Source-ZeeNews

गौरतलब है कि मिथेनॉल कोयले से बनाया जाता है. अभी हाल ही की बात करें तो पेट्रोल-डीजल में इथेनॉल मिलाया जाता है, जोकि 42 प्रति लीटर के हिसाब से पड़ता है. वहीँ मिथेनॉल की लागत में बस 20 रूपये प्रति लीटर का खर्चा आता है. अंग्रेजी अखबार इकोनॉमिक टाइम्स में छपी खबर के अनुसार इस मुद्दे पर जुलाई के अंतिम हफ्ते में चर्चा हुई थी. बताया गया है कि अभी देश की गाड़ियों में 10 फीसदी इथेनॉल मिश्रित ईंधन का प्रयोग किया जाता है. जिसके हिसाब से अगर 15 फीसदी मिथेनॉल  पेट्रोल में मिलाया जाता है तो पेट्रोल की कीमतों में 10 फीसदी की कमी आ जाएगी. अब देखना यह है कि सरकार इस प्रस्ताव पर क्या फैसला लेती है.

News Source-News18