Breaking News
Home / Ajab Gajab / चीनी दूतावास में भेड़ों का झुंड लेकर पहुँच गए थे अटल जी, हुई थी चीन की जगहसाई, जानिये क्या थी दिलचस्प वजह

चीनी दूतावास में भेड़ों का झुंड लेकर पहुँच गए थे अटल जी, हुई थी चीन की जगहसाई, जानिये क्या थी दिलचस्प वजह

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी अब इस दुनिया में नही रहे. आज शुक्रवार को अटल जी का पार्थिव शरीर पंचतत्व में मिला दिया गया. पूरा देश और अन्य नेता अटल जी के साथ बिताये गए उनके पल याद कर रहे है. ऐसे समय में अटल जी से जुड़ा एक ऐसा किस्सा आपको बताने जा रहे है जब वे चीनी दूतावास में भेड़ों का झुंड लेकर घुस गये थे. जानिये क्या वजह थी इस हरकत के पीछे.

Source-NDTV.com

अटल बिहारी वाजपेयी के भाषणों का मुरीद पूरा देश था. चाहे पक्ष हो या विपक्ष, सभी अटल जी को सुनना चाहते थे. अटल जी विरोध भी करते थे तो मर्यादा में रहकर. कई बार अटल जी बेहद अजीब तरीके से विरोध करते थे. एक बार पेट्रोल के बढती कीमतों का विरोध करने के लिए वे बैलगाड़ी पर चढ़ गये थे. इसी तरह 1965 में जब चीन के साथ रिश्ते ठीक नही थे उस समय चीन का विरोध करने के लिए वह भेड़ों का झुंड लेकर चीनी दूतावास में घुस गए थे.

Source-zeenews.india.com

दरअसल चीन ने 1965 में भारतीय सैनिकों पर तिब्बत के चरवाहों की 800 भेड़ें और 59 याक चुराने का झूठा आरोप जड़ दिया था. इसके बाद चीन ने इन जानवरों को वापस करने की मांग की थी. इतना ही नहीं इस पर उसने युद्ध करने की धमकी तक दे डाली थी. चीन के इस आरोप के बाद पूरा देश गुस्से से उबल पड़ा था. उस समय सांसद अटल जी, भेड़ों का झुंड लेकर राजधानी दिल्ली में चीनी दूतावास में चले गए. इस प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शनकारियों की तख्तियों पर लिखा गया था कि “हमें खा लीजिए, लेकिन दुनिया को बचा लीजिए”. इसके चलते चीन के ये बेतुकी मांग पूरी दुनिया के सामने सार्वजानिक हो गयी थी और उसकी जगहसाई हो रही थी जिससे चीन खिसिया गया था.

Source-NDTV.com

इसके बाद वाजपेयी के विरोध प्रदर्शन को लेकर चीन सरकार ने भारत सरकार को चिट्टी भी लिखी थी मगर सरकार ने साफ़ कर दिया कि वे इस पर पहले ही जवाब दे चुके थे. वाजपेयी के विरोध के अनोखे तरीके ने सबको चौंका दिया और चीन भी हक्का-बक्का रह गया. आज वे हमारे बीच नहीं रहे मगर उनकी यादें सदैव हमारे साथ रहेगी. हम अटल जी की आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना करते है. ओम शांति!