Breaking News
Home / Interesting / सबसे आखिर में अटल जी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे राष्ट्रपति कोविंद, जानिए क्या थी वजह

सबसे आखिर में अटल जी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे राष्ट्रपति कोविंद, जानिए क्या थी वजह

देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का निधन 16 अगस्त की शाम को हो गया था. पिछले काफी समय से अटल जी एम्स में भर्ती थे. यूरिन इन्फेक्शन सहित कई बीमारियों ने अटल जी को घेर लिया था. काफी समय से बीमारी से जंग लड़ रहे अटल जी ने आखिरकार 16 अगस्त की शाम को हार मानते हुए दुनिया को अलविदा कह दिया. उनके निधन के बाद देशभर में शोक की लहर दौड़ गयी थी. देशभर के तमाम नेता अटल जी को श्रद्धांजलि देने के लिए दिल्ली पहुंचे थे.

Image Source-Performindia

जानकारी के लिए बता दें अटल जी ने 93 साल की उम्र में आखिरी सांस 16 अगस्त को शाम 5:05 बजे एम्स में ली थी. अटल जी के निधन के बाद उनके पार्थिव शरीर को सेना के वाहन में रखकर अंतिम यात्रा निकाली गयी, जिसमें देश के बड़े-बड़े नेताओं के साथ लाखों की संख्या में जनता मौजूद रही. पीएम मोदी समेत बीजेपी के सभी नेता लगभग मौजूद रहे. इतना ही नहीं विपक्षी दलों से भी काफी नेता अटल जी के अंतिम दर्शन और श्रद्धांजलि देने के लिए पहुंचे थे.

Image Source-Times Now Hindi

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का सबसे बाद में पहुंचना रहा चर्चा में 

अटल जी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे नेताओं में सबसे ज्यादा चर्चा देश के महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की रही. दरअसल रामनाथ कोविंद सबसे बाद में अटल जी को श्रद्धांजलि देने पहुंचे जो कि एक चर्चा का विषय बन गया. ये नजारा देखने के बाद लोगों के मन में सवाल आने लगा कि ऐसी क्या वजह रही होगी जो देश के राष्ट्रपति सबसे बाद में श्रद्धांजलि अर्पित करने गये. इसके पीछे की वजह हम आपको बताने जा रहे हैं, जिसे जानकर आप भी हैरान रह जायेंगे.

Image Source-Amarujala

गौरतलब है कि जब भी कोई शासकीय कार्यक्रम होता है तो राष्ट्रपति सबसे बाद में पहुंचते हैं और कार्यक्रम से भी सबसे पहले निकल जाते हैं. इसके पीछे की वजह ये है कि राष्ट्रपति देश का सर्वोच्च नागरिक होता है. राष्ट्रपति को देश के प्रथम नागरिक के साथ महामहिम भी कहा जाता है. इसी वजह से देश में उनका स्थान सर्वोपरि रखा गया है. देश का सर्वोच्च नागरिक होने के साथ राष्ट्रपति को एक प्रोटोकॉल के दायरे में रहना पड़ता है. यही वजह है कि उनकी सुरक्षा को देखते हुए सबसे बाद में कार्यक्रम स्थल में पहुंचाया जाता है. इतना ही नहीं है, जब भी राष्ट्रपति किसी कार्यक्रम में जाते हैं तो वहां मौजूद प्रधानमंत्री, उपराष्ट्रपति के साथ अन्य बड़े नेता मौजूद रहते हैं लेकिन जब तक राष्ट्रपति कार्यक्रम स्थल में रहेंगे तब तक अन्य नेता कहीं जा नहीं सकते. प्रधानमंत्री खुद इसकी अगुवाई करते हैं. यही वजह है जो राष्ट्रपति सबसे बाद में आते हैं और सबसे पहले वहां से निकल जाते हैं.

News Source-Patrika