Breaking News
Home / Interesting / प्रोग्राम के दौरान जब आमने-सामने हुए पीएम मोदी और मनमोहन सिंह तो देखिये क्या हुआ, पीएम ने किया कुछ ऐसा कि मनमोहन सिंह भी रह गये आश्चर्यचकित

प्रोग्राम के दौरान जब आमने-सामने हुए पीएम मोदी और मनमोहन सिंह तो देखिये क्या हुआ, पीएम ने किया कुछ ऐसा कि मनमोहन सिंह भी रह गये आश्चर्यचकित

भारत के लोकतंत्र की व्यवस्था हर भारतीय के सिर को गर्व से ऊँचा कर देती है. हमारे देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था बाकी देशों से बिलकुल अलग है. अक्सर आपने देखा होगा कि हमारे देश के नेताओं के बीच में जमकर मतभेद होते हैं, एक दूसरे पर दोनों नेता हमलावर रहते हैं लेकिन क्या आपने सोचा है कि इन नेताओं के बीच में कभी मनभेद नहीं होते हैं. यही हमारे देश की खूबसूरती है. रविवार को दिल्ली में देश के दो महान और प्रसिद्ध नेताओं के बीच में कुछ ऐसा देखने को मिला जिसे जानकर आप भी यकीन नहीं कर पाएंगे.

Image Source-ANI

जानकारी के लिए बता दें कि रविवार को दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह में सामना हुआ. जैसे ही मंच पर पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह आये तो पीएम मोदी खुद से आगे बढ़े और उनका स्वागत किया. जिसके बाद वह एक ही मंच पर अगल-बगल में बैठे. दोनों नेताओं का सामना होने के बाद उनके चेहरे पर जो मुस्कान देखने को मिली वो देखने लायक थी. उनकी इस तस्वीर को देखने के बाद आप भी यही कहेंगे कि लोकतंत्र जिंदाबाद. आपको याद होगा 2014 में हुए लोकसभा चुनाव के दौरान नरेंद्र मोदी ने तमाम जनसभायें करके मनमोहन सिंह पर जमकर निशाना साधा था और अब यह सिलसिला फिर से शुरू होने वाला है, फिर भी दोनों नेताओं का एक दूसरे से मिलना और खुश दिखना लोकतंत्र की खूबसूरती को बयाँ करता है. मनमोहन सिंह ने भी कई मौकों पर पीएम मोदी की कड़ी आलोचना की है.

Image Source-ZeeNews

आयोजित कार्यक्रम में पीएम मोदी ने उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू की जमकर तारीफ़ की. उन्होंने कहा ‘वैंकेया जी अनुशासन के प्रति बहुत आग्रही हैं और हमारे देश की स्थिति ऐसी है कि अनुशासन को अलोकतांत्रिक कह देना आजकल सरल हो गया है,’ प्रधानमंत्री ने कहा ‘‘अगर कोई अनुशासन का जरा सा भी आग्रह करे तो उसे निरंकुश बता दिया जाता है, लोग इसे कुछ नाम देने के लिये शब्दकोष खोलकर बैठ जाते हैं,’ बता दें किकैया नायडू की पुस्तक के लोकार्पण के दौरान सभी नेता उपस्थित थे. पीएम मोदी ने उनकी पुस्तक को लेकर कहा कि यह पुस्तक वेंकैया जी के बतौर उपराष्ट्रपति के अनुभव का संकलन तो है ही, इसी के साथ उन्होंने एक साल में किये गये अपने काम का हिसाब देश के प्रति रखा है. पीएम मोदी ने आगे कहा कि नायडू ने इस पुस्तक में उपराष्ट्रपति की संस्था को नया रूप देने का एक खाका भी तैयार किया है. 245 पृष्ट की इस पुस्तक में वेंकैया नायडू ने अपने एक साल के अनुभव साझा किये हैं साथ ही 465 तस्वीरें अपनी 27 राज्यों की यात्रा की पेश की हैं, जो उनके विभिन्न शिक्षण संस्थानों के दौरे, सम्मलेन से जुड़ी हुई हैं.

Source-DeccanChronicle

गौरतलब है कि कार्यक्रम के दौरान पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने भी उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू की जमकर तारीफ की. उन्होंने कहा कि नायडू अपने उपराष्ट्रपति के कार्यकाल में अपने राजनीतिक और प्रशासनिक अनुभव साझा करते हैं यह उनके कार्यकाल में काफी हद तक परिलक्षित होता है. मनमोहन सिंह ने एक कवि के अंदाज में कहा कि ‘सितारों के आगे जहां और भी हैं, अभी इश्क के इम्तेहां और भी हैं.’ नायडू की पुस्तक का नाम ‘‘मूविंग ऑन मूविंग फॉरवर्ड’’ है. अपनी पुस्तक के विमोचन के दौरान नायडू ने कहा कि ‘‘भारतीय संस्कृति विश्व की परम उत्कृष्ट संस्कृति है, इसको कायम रखना चाहिये,’’ उन्होंने कहा ‘वसुधैव कुटुंबकम’ भारतीय दर्शन की आत्मा है और इसमें सबका ख्याल रखने का संदेश निहित है.”

News Source-ZeeNews