Breaking News
Home / Political / प्रशांत किशोर ने अगले पीएम को लेकर कराया सर्वे: आंकड़े जो सामने आये है वो होश उड़ा देने वाले हैं

प्रशांत किशोर ने अगले पीएम को लेकर कराया सर्वे: आंकड़े जो सामने आये है वो होश उड़ा देने वाले हैं

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की लोकप्रियता को देखते हुए विपक्ष बुरी तरह घबराया हुआ है. अगले लोकसभा चुनावों में पीएम मोदी और बीजेपी का सामना करने के लिए विपक्ष एकजुट होने की तैयारी लगभग साल भर से कर रहा है. विपक्ष मोदी सरकार के खिलाफ अफवाह फैलाने से भी बाज़ नही आ रहा है. इन सबके बावजूद अगेल पीएम को लेकर प्रशांत किशोर के सर्वे में जो आंकड़े सामने आ रहे हैं वो विपक्ष की नींद उड़ाने के लिए काफी है.

Source-Deccan Chronicle

जानकारी के लिए बता दें कि चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर की संस्था इंडियन पॉलिटिकल एक्शन कमेटी (आईपीएसी) ने एक सर्वे जारी किया है, जिसमें हैरान कर देने आंकडे सामने आये है. देश में प्रधानमंत्री मोदी और राहुल गांधी की लोकप्रियता के बीच जो अंतर सामने आया है उसे देखकर कांग्रेसियों की बोलती बंद हो जाएगी. बता दें कि यह सर्वे 712 जिलों में लगभग 55 दिन चला था. कुल 923 नेताओं को लेकर इसमें तकरीबन 57 लाख लोगों की राय ली गयी है. आगे देखिये सर्वे में सामने आये कैसे हैरान कर देने वाले आंकड़े.

Source-NDTV Khabar

दरअसल इस सर्वे में राहुल गाँधी को अपना नेता मानने वाले कुल 11 प्रतिशत लोग ही हैं. वहीं प्रधानमंत्री मोदी को 48 फीसदी लोग अपने नेता के तौर पर देखते हैं. टीवी रिपोर्ट्स के मुताबिक़ प्रधानमंत्री मोदी लोकप्रियता के मामले में राहुल गांधी से 400 फीसदी आगे चल रहे हैं. इस सर्वे में अरविंद केजरीवाल 9.3 फीसदी लोगों की पसंद के साथ तीसरे नंबर पर हैं. चौथे नंबर पर समाजवादी पार्टी के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव हैं .

Source-youth ki awaaz

वहीँ ममता बनर्जी को अपना नेता मानने वालों में सिर्फ 4.2 फीसदी लोग सामने आये है. मायावती सबसे नीचले स्तर पर 4.1 फीसदी लोगों  के साथ रही. इस सर्वे में प्रधानमंत्री मोदी की लोकप्रियता के आस पास भी कोई दिखाई नही दे रहा है. इस सर्वे में सामने आये विपक्षी नेताओं के आंकड़ो को अगर मिला भी दिया जाय तो भी पीएम मोदी की लोकप्रियता से पीछे ही रहेंगे. इस सर्वे की माने तो यह साफ़ है कि राहुल गाँधी की लाख कोशिशों के बावजूद जनता उन्हें अपना नेता मानने को तैयार नहीं है और मोदी एक बार फिर पीएम बनने की राह पर है.

Source: jansatta