Breaking News
Home / Political / एक तरफ कांग्रेस राफेल को लेकर ड्रामा कर रही है दूसरी तरफ मोदी सरकार करने जा रही है एक और धाकड़..

एक तरफ कांग्रेस राफेल को लेकर ड्रामा कर रही है दूसरी तरफ मोदी सरकार करने जा रही है एक और धाकड़..

एक तरफ जहां कांग्रेस रॉफेल को लेकर हंगामा मचाये हुए है तो वहीं दूसरी तरफ मोदी सरकार ने ऐसा धाकड़ फैसला लिया है कि आप भी गर्व महसूस करेेंगे. अपनी सीमाओं की सुरक्षा और दुश्मनों को मुंह तोड़ जवाब देने के लिए भारत सरकार एक बड़ी डील करने जा रही है. यह रक्षा डील भारत का ही नही बल्कि दुनिया का सबसे बड़ा रक्षा सौदा होगा. पीएम मोदी ने इसके साथ ही देश को धमकाने वाली ताकतों को बता दिया है कि वह देश की सुरक्षा को लेकर कोई समझौता नही करेंगे. इस डील के अंतर्गत भारत 114 लड़ाकू विमान खरीदने जा रहा है. आइए बताते हैं क्या होगा पूरी डील का खाका.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी: (Image Source-Jansatta)

मोदी सरकार करने जा रही है दुनिया का सबसे बड़ा रक्षा समझौता

देश की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने बड़ा फैसला लिया है. भारत अत्याधुनिक रक्षा प्रौद्योगिकी लाने के मकसद से 114 नए लड़ाकू विमान खरीदने जा रहा है. भारतीय वायुसेना अब तक की सबसे बड़ी डील करते हुए इसके लिए शुरुआती निविदा जारी कर दिए हैं. बता दें कि 1.4 लाख करोड़ रुपये की लागत से 114 नए विमान खरीदे जायेंगे. इस कड़ी में रणनीतिक भागीदारी मॉडल के तहत भारतीय कंपनियां विदेशी रक्षा कंपनियों के साथ मिल कर लड़ाकू विमानों का उत्पादन करेंगे.

दऱअसल भारतीय वायुसेना अपने पुराने विमानों को बाहर करने की योजना पर काम कर रही है. वर्तमान में शामिल लड़ाकू विमानों की क्षमता में कमी होने का हवाला देते हुए वायुसेना ने नए विमानों खरीदने के लिए सरकार से आग्रह किया था जिसे अब मोदी सरकार ने मंजूरी प्रदान कर दी है.

रॉफेल के बाद पीएम मोदी का एक और बड़ा रक्षा डील: (Image Source-Punjabkesari)

 

खबर के अनुसार रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण 114 नए विमान खरीदने की डील को जल्द ही हरी झंडी प्रदान करने वाली हैं और माना जा रहा है कि डील अगले महीने तक हो जायेगी. आपको बता दें कि भारतीय वायुसेना में कई लड़ाकू विमान या तो पुराने हो चुके हैं या उनकी क्षमता में कमी हुई है इसी को देखते हुए और लड़ाकू विमानों के खरीदने की आवश्कता है.

 फ्रांस की सरकार से 136 लड़ाकू विमान खरीदने के लिए हो चुका है समझौता

आपको बता दें कि पीएम मोदी के नेतृत्व में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार ने सिंतबर 2016 में फ्रांस की सरकार से रॉफेल समझौता किया था. तब 136 लड़ाकू विमान खरीदने की डील हुई थी लेकिन भारत ने 36 ही खरीदे हैं. दोहरे इंजन वाले रॉफेल लड़ाकू विमान खरीदने के लिए भारत ने फ्रांस सरकार से करीब 59000 करोड़ रुपये के सौदे पर हस्ताक्षर किए थे.

36 राफेल विमान खरीदने का पहले ही हो चुका है समझौता: (Image Source-Punjab kesari)

आपसे एक सीधा सवाल

इस रक्षा डील के बाद भारत की सुरक्षा व्यवस्था पर क्या असर पड़ेगा?

News Source-Punjab Kesari