Breaking News
Home / Interesting / अचानक रात में रेलवे स्टेशन पहुंचकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सबको चौंका दिया
Image Source-sabguru

अचानक रात में रेलवे स्टेशन पहुंचकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सबको चौंका दिया

देश की सत्ता संभालने के बाद पीएम मोदी ने देश हित और जनता के हित में एक से बढ़कर एक बड़े फैसले लिए हैं. वह देश के ऐसे पहले नेता हैं जो बिना अपनी सुरक्षा के बारे में सोचकर प्रोटोकॉल तोड़ देते हैं और निकल पड़ते हैं. वह जब भी अक्सर कई कहीं का दौरा या सड़कों पर अचानक निकल जाते हैं तो जनता भी उन्हें देखती ही रह जाती है. उनके इस कदम के बाद जब अधिकारियों को पता चलता है कि पीएम मोदी बिना सुरक्षा के कहीं पहुंचे हैं तो अधिकारी महकमें में भी हड़कंप मच जाता है.

Image Source-sabguru

जानकारी के लिए बता दें अभी हाल ही के कुछ दिन पहले देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का निधन हो गया था. उससे पहले जब वह दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती थे तो कई बार पीएम मोदी दिल्ली की सड़कों पर बिना सुरक्षा के अचानक एम्स पहुंचे थे और उनकी तबियत का हाल जाना था. 17 सितंबर को पीएम मोदी का जन्मदिन था. इस खास मौके पर वह अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में गरीब बच्चों के साथ जन्मदिन मनाने गये थे. इसी बीच वाराणसी में कुछ ऐसा हुआ कि वहां मौजूद भी भीड़ भी भौचक्का रह गयी. पीएम मोदी अचानक से वाराणसी के मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन पर पहुंच गये, फिर कुछ ऐसा हुआ जो किसी ने सोचा नहीं था.

Image Source-webduniya

जी हाँ देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहां पहुंचकर औचक निरिक्षण कर यात्रियों का जायजा लिया. पीएम मोदी को अचानक स्टेशन पर देख यात्री भी चौंक गये और ख़ुशी से झूम उठे थे. पीएम ने सीधे स्टेशन पर मौजूद यात्रियों से बातचीत कर जायजा लिया. सोमवार रात को करीब 10 बजे पीएम मोदी का काफिला स्टेशन परिसर पर पहुंचा था. पीएम मोदी को अचानक स्टेशन पर देख अधिकारी समेत अन्य लोगों को यकीन नहीं हो रहा था. देखिये फिर क्या हुआ आगे…

देखें वीडियो:

पीएम मोदी देखिये कैसे स्टेशन पर अचानक पहुंचते हैं तो जनता का उत्साह एक दम से बढ़ जाता है और जनता झूम उठती है. पीएम मोदी भी जनता का अंदर से लेकर बाहर तक अभिवादन करते ही नजर आये थे. जनता भी उन्हें देखकर बेहद ही खुश नजर आ रही है. रेलवे स्टेशन का दौरा करने के लिए पीएम चुनिंदा गाड़ियों का ही काफिला लेकर पहुंचे थे. वहां पहुंचकर उन्होंने अधिकारियों से निर्माणाधीन विकास कार्यों के बारे में जानकारी ली और 10 मिनट वहां रुकने के बाद रात्रि विश्राम के लिए डीजल इंजन रेल कारखाना (डीरेका) अतिथि गृह की तरफ चले गये.