Breaking News
Home / Political / महात्मा गाँधी को लेकर सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी ने दिखाई अपनी छोटी सोच !

महात्मा गाँधी को लेकर सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी ने दिखाई अपनी छोटी सोच !

कहने को तो पूरी कांग्रेस गाँधी के नाम से अपनी राजनीति चमकाती आ रही है. खुद कांग्रेस के उच्च पदों पर रहे नेहरु परिवार के लोग महात्मा गाँधी के सरनेम का इस्तेमाल करते आ रहे हैं. आज कांग्रेस खुद को इस तरह दिखाती है कि जैसे गाँधी की ख्याति का फायदा पाने का असली हक़दार कोई और नहीं बल्कि सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी ही है लेकिन जब महात्मा गाँधी को सम्मान देने और उनके 150वीं जयंती मनाने का मामला सामने आया तो सारी पोल खुलती नजर आई. दरअसल महात्मा गाँधी की 150वीं को बेहद भव्य और सार्थक रूप से मनाने के लिए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने एक मीटिंग बुलाई थी जिसमें सभी दलों के नेताओं को शामिल होना था.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, राजघाट पर(फाइल)

अमर उजाला के मुताबिक इस मीटिंग में उपराष्ट्रपति से लेकर तमाम दलों के दिग्गज नेता शामिल रहे लेकिन जो काम सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी ने किया वो बेहद ही अफ़सोसजनक था. बता दें कि पूरे देश में इस बात को लेकर बहस है कि महात्मा गाँधी के सरनेम गाँधी को लेकर सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी खुद की राजनीति चमकाते हैं लेकिन जब बात उनके सम्मान की आती है तो वो सबसे पीछे खड़े नजर आते हैं.

Source

दरअसल महात्मा गाँधी की 150वीं जयंती मनाये जाने के लिए और उसकी तैयारियों के लिए राष्ट्रपति की तरफ जो मीटिंग बुलाई गयी उसमें पीएम मोदी, उपराष्ट्रपति वैंकेया नायडू, पूर्व पीएम मनमोहन सिंह, लालकृष्ण आडवाणी सरीखे नेता पहुंचे, लेकिन सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी इस मीटिंग में नहीं पहुंचे. इस बात को लेकर राजनीतिक गलियारों में काफी चर्चा भी है कि आखिर सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी इस मीटिंग में क्यों नहीं पहुंचे. क्या उन्हें इस मीटिंग की अहमियत और जरूरत समझ नहीं आ रही थी या फिर वो राजनीति के चक्कर में महात्मा गाँधी को भी भूल चुके हैं. इन सवालों का जवाब कांग्रेस दे या ना दें लेकिन जनता उन्हें जवाब जरुर देगी.